कासगंज अमांपुर में करवा चौथ को लेकर बाजारों में उमड़ी महिलाओं की भीड़ – बहुजन इंडिया 24 न्यूज

कासगंज अमांपुर में करवा चौथ को लेकर बाजारों में उमड़ी महिलाओं की भीड़

1 min read

कासगंज अमांपुर में करवा चौथ को लेकर बाजारों में उमड़ी महिलाओं की भीड़

😊 Please Share This News 😊

बहुजन इंडिया 24 न्यूज़ व बहुजन प्रेरणा दैनिक समाचार पत्र ( सम्पादक मुकेश भारती- सम्पर्क सूत्र 9336114041 )
कासगंज : ( रवीश कुमार गौतम – ब्यूरो रिपोर्ट ) दिनांक- 23 – अक्टूबर – 2021-शनिवार ।


                                   कासगंज अमांपुर में करवा चौथ को लेकर बाजारों में उमड़ी महिलाओं की भीड़

करवा चौथ का त्योहार शनिवार और रविवार को, सुहागिनों की भीड़ से बाजार गुलजार।अमांपुर । कस्बा में रविवार को करवा चौथ को लेकर कस्बे के बारहद्रारी, कालेज रोड, सहावर रोड, ददवारा, गुड़मण्डी, सराफा बाजार आदि बाजारों में महिला ग्राहकों की भीड़ खरीदारी को उमड़ी। बाजार में चूड़ी, साड़ी, करवे, सौंदर्य प्रसाधन की दूकानों पर महिलाओं ने जमकर खरीदारी की। इस बार महिलाओं के इस त्योहार पर मंहगाई की मार का भी काफी असर देखा गया। सोने चांदी के आसमान छूते रेटों के कारण ज्वैलर्स की दुकानों पर पिछले वर्ष की अपेक्षा इस बार काफी कम महिला ग्राहक देखी गई। सबसे अधिक ज्यादा भीड़ आर्टिफिशल ज्वैलरी, कांच की चूड़ियों, कास्मेटिक की दुकानों पर देखी गई। करवा चौथ पर्व बुधवार को है। सुहागिनों के लिए यह दिन सबसे खास होता है। वे पूरे दिन निर्जला व्रत रखती हैैं। शाम को सजधज कर पति की लंबी आयु के लिए विधि विधान से पूजन करती हैं। करवाचौथ को लेकर महिलाओं में बेहद उत्साह है। सजने संवरने के लिए महिलाएं बाजार जाकर सौंदर्य सामग्री खरीद रही हैं। इससे बाजार में काफी भीड़भाड़ होने लगी हैं। यह व्रत सुहागिनों के लिए बहुत खास होता है। पति की लंबी आयु के लिए सुहागिनें पूरे दिन निर्जला व्रत रखती हैं। व्रत की तैयारियों को लेकर बाजार में महिलाओं की भीड़ उमड़ने लगी है। महिलाएं सजने संवरने के लिए साड़ी, श्रृंगार सामग्री आदि की जमकर खरीददारी कर रही हैं। बता दें कि करवा चौथ के दिन महिलाएं दिन भर उपवास रख शाम को सज संवर कर विधि विधान से पूजन कर पति की लंबी आयु की प्रार्थना करती हैं। इसके बाद चंद्रमा को अर्घ्य देकर चलनी से पति का चेहरा देखकर व्रत खोलती हैं।करवा चौथ को लेकर उत्साहित हैं नवविवाहिताएं। करवाचौथ भारतीय संस्कृति में पति-पत्नी के अटूट बंधन एवं समर्पण का प्रतीक है।गृहणियों के बोल करवा चौथ के लिए सोलह श्रंगार की चीजें और पूजा की सामग्री खरीद ली है। गीता गुप्ता,महिलाओं केलिए यह व्रत एक उत्सव होता है।

 

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

[responsive-slider id=1466]
error: Content is protected !!