अयोध्या भाजपा की सहयोगी निषाद पार्टी के अध्यक्ष डॉक्टर संजय ने भगवान राम को लेकर विवादित बयान दिया – बहुजन इंडिया 24 न्यूज

अयोध्या भाजपा की सहयोगी निषाद पार्टी के अध्यक्ष डॉक्टर संजय ने भगवान राम को लेकर विवादित बयान दिया

1 min read

अयोध्या भाजपा की सहयोगी निषाद पार्टी के अध्यक्ष डॉक्टर संजय ने भगवान राम को लेकर विवादित बयान दिया

😊 Please Share This News 😊

बहुजन इंडिया 24 न्यूज़ व बहुजन प्रेरणा दैनिक समाचार पत्र ( सम्पादक मुकेश भारती- सम्पर्क सूत्र 9336114041 )
अयोध्या : (फूलचन्द्र – ब्यूरो रिपोर्ट ) दिनांक- 09 – नवंबर – 2021-मंगलवार ।


    अयोध्या भाजपा की सहयोगी निषाद पार्टी के अध्यक्ष डॉक्टर संजय ने भगवान राम को लेकर विवादित बयान दिया

संजय निषाद ने दिया विवादित बयान बोले अयोध्या के राजा दशरथ के पुत्र नहीं थे राम प्रयागराज भाजपा की सहयोगी निषाद पार्टी के अध्यक्ष डॉक्टर संजय ने भगवान राम को लेकर विवादित बयान दिया है. संजय निषाद ने कहा है कि भगवान राम अयोध्या के राजा दशरथ के पुत्र नहीं थे, बल्कि वो पुत्रेष्टि यज्ञ कराने वाले श्रृंगी ऋषि के बेटे थे. संजय निषाद का कहना है कि भगवान राम को राजा दशरथ का तथाकथित पुत्र कहा जा सकता है, लेकिन वो वास्तविक बेटे नहीं थे संजय निषाद के मुताबिक राजा दशरथ को जब कोई संतान नहीं हो रही थी तो उन्होंने श्रृंगी ऋषि से यज्ञ कराया था. ये यज्ञ सिर्फ कहने के लिए ही था. कहा जाता है कि श्रृंगी ऋषि द्वारा खीर दिए जाने से राजा दशरथ की तीनों रानियों के पुत्र पैदा हुए थे, जबकि हकीकत ये है कि खीर खाने से कोई भी महिला गर्भवती नहीं हो सकती. डॉक्टर संजय निषाद के मुताबिक राजा दशरथ और उनके साथ के लोग राम को सिर्फ राजकुमार ही समझते थे. उन्हें कभी इस बात का एहसास नहीं हुआ कि राम के रूप में खुद भगवान उनके यहां मौजूद हैं. संजय निषाद ने कहा कि राम को भगवान समझने की क्षमता सिर्फ निषाद राज में ही थी. जो भगवान को पहचान लेता है उसका दर्जा भगवान से भी बड़ा हो जाता है. निषाद राज का यही दर्जा है. संजय निषाद के मुताबिक उस वक्त के इतिहासकारों ने भी सच नहीं लिखा था. संगम नगरी प्रयागराज में मीडिया से बात करते हुए डॉक्टर संजय निषाद ने बताया कि निषादों को अलग आरक्षण दिए जाने की मांग को लेकर उनकी पार्टी 9 नवंबर से समूचे उत्तर प्रदेश में आंदोलन करेगी. उन्होंने साफ तौर पर कहा कि बीजेपी ने उन्हें एमएलसी बनाते वक्त ये वादा किया था कि आरक्षण की मांग को एक महीने में पूरा कर दिया जाएगा. तकरीबन 2 महीने का वक्त बीतने को है, लेकिन बीजेपी ने अभी तक अपना वादा पूरा नहीं किया. इससे निषाद समाज काफी आक्रोशित है और अब वो अपनी मांगों को लेकर सड़क पर उतरने को मजबूर है. संजय निषाद ने कहा कि निषाद पार्टी ने 21 नवंबर को लखनऊ में एक बड़ी रैली रखी है. इस रैली में भारी भीड़ जुटाकर निषाद समाज की ताकत का प्रदर्शन किया जाएगा. संजय निषाद ने बताया कि 21 नवंबर को लखनऊ में होने वाली रैली में गृहमंत्री अमित शाह को मुख्य अतिथि के तौर पर बुलाया गया है. अमित शाह देश के गृह मंत्री भी हैं. उम्मीद है कि वो इस रैली में आकर निषादों के लिए कोई बड़ा एलान करेंगे. उन्होंने दावा किया कि बीजेपी अगर निषादों को अलग आरक्षण दिए जाने की मांग को पूरा कर देती है तो उसे उम्मीद से ज्यादा सीटें मिलेंगी. उनका कहना है कि अभी तक आरक्षण पर कोई फैसला नहीं होने से लोग तमाम सवाल उठा रहे हैं।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

[responsive-slider id=1466]
error: Content is protected !!