सुल्तानपुर अम्बेडकर कल्याण समिति और भारतीय बौद्ध महासभा ने किया संयुक्त ऐलान – बहुजन इंडिया 24 न्यूज

सुल्तानपुर अम्बेडकर कल्याण समिति और भारतीय बौद्ध महासभा ने किया संयुक्त ऐलान

1 min read

सुल्तानपुर अम्बेडकर कल्याण समिति और भारतीय बौद्ध महासभा ने किया संयुक्त ऐलान

😊 Please Share This News 😊

सुल्तानपुर अम्बेडकर कल्याण समिति और भारतीय बौद्ध महासभा ने किया संयुक्त ऐलान
जोश ओ खरोश से मनाई जाएगी अम्बेडकर जयंती अम्बेडकर कल्याण समिति और भारतीय बौद्ध महासभा ने किया संयुक्त ऐलान -बैठकों का दौर शुरू, गांव-गांव झांकी इंचार्जों में फूंकी जा रही नई ऊर्जा सुलतानपुर। जिले में अम्बेडकर जयंती आगामी चैदह अप्रैल को जोश-ओ-खरोश के साथ मनाई जाएगी। अम्बेडकर अनुयाइयों ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। बैठकों का दौर शुरू हो गया है। गांव-गांव झांकी इंचार्जों को प्रेरित किया जा रहा है। समारोह को ऐतिहासिक बनाने के लिए युवाओं में नई ऊर्जा का संचार किया जा रहा है। इसके लिए अम्बेडकर कल्याण समिति एवं भारतीय बौद्ध महासभा के जिम्मेदार पदाधिकारी जुटे हुए हैं।कोरोना संक्रमण की वजह से दो साल तक ठप रही अम्बेडकर जयंती इस बार धूमधाम से मनाई जाएगी।

बहुजन इंडिया 24 न्यूज़ व बहुजन प्रेरणा दैनिक समाचार पत्र (सम्पादक मुकेश भारती ) मो ० 9336114041 )सुल्तानपुर – ( जितेंद्र कुमार बौद्ध – ब्यूरो रिपोर्ट )- दिनांक 29 मार्च 2022- मंलवार ।

जोश ओ खरोश से मनाई जाएगी अम्बेडकर जयंती अम्बेडकर कल्याण समिति और भारतीय बौद्ध महासभा ने किया संयुक्त ऐलान -बैठकों का दौर शुरू, गांव-गांव झांकी इंचार्जों में फूंकी जा रही नई ऊर्जा सुलतानपुर। जिले में अम्बेडकर जयंती आगामी चैदह अप्रैल को जोश-ओ-खरोश के साथ मनाई जाएगी। अम्बेडकर अनुयाइयों ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। बैठकों का दौर शुरू हो गया है। गांव-गांव झांकी इंचार्जों को प्रेरित किया जा रहा है। समारोह को ऐतिहासिक बनाने के लिए युवाओं में नई ऊर्जा का संचार किया जा रहा है। इसके लिए अम्बेडकर कल्याण समिति एवं भारतीय बौद्ध महासभा के जिम्मेदार पदाधिकारी जुटे हुए हैं।कोरोना संक्रमण की वजह से दो साल तक ठप रही अम्बेडकर जयंती इस बार धूमधाम से मनाई जाएगी। इस बार की जयंती हरेक लिहाज से खास होगी। एक तो दो साल बाद अम्बेडकर अनुयाइयों को जयंती समारोह मनाने का अवसर मिला है, दूसरे वर्षों तक अलग-थलग चल रही सामाजिक संस्थाओं की एकजुटता है। अम्बेडकर कल्याण समिति और भारतीय बौद्ध महासभा के पदाधिकारियों ने सारा गिला-शिकवा भुलाकर एक साथ कंधा से कंधा मिलाकर चलने का संकल्प लिया है। बता दें कि अम्बेडकर कल्याण समिति तिकोनिया पार्क में जयंती मनाती है तो भारतीय बौद्ध महासभा कभी खुर्शीद क्लब तो कभी कांशीराम कालोनी या अन्य स्थानों पर बाबा साहब के जन्मदिन का सालाना जलसा आयोजित करता। इस बार दोनों संगठनों के पदाधिकारियों ने बडी ही सूझ-बूझ का परिचय दिया है। दोनों संगठनों की एकता का अच्छा संदेश समाज में जा रहा है। बडी संख्या में गांवों से अम्बेडकर झांकियां जिला मुख्यालय समारोह में शामिल होने के लिए बेताब हैं। रविवार को दोनों संगठनों की बैठक में डाॅ.जयभीम बौद्ध, सोहन कुमार, अरविंद कुमार, धीरेंद्र राव, रमेश चंद्रा, धर्मराज गौतम, सालिकराम आदि दर्जनों मानिंद लोगों ने अपने-अपने सुझाव दिए। अगली बैठक आगामी रविवार को होगी।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

[responsive-slider id=1466]
error: Content is protected !!