बरेली में जिले की भुता पुलिस पर जमीन कब्जाने का गंभीरआरोप लगा – बहुजन इंडिया 24 न्यूज

बरेली में जिले की भुता पुलिस पर जमीन कब्जाने का गंभीरआरोप लगा

1 min read

बरेली में जिले की भुता पुलिस पर जमीन कब्जाने का गंभीरआरोप लगा

😊 Please Share This News 😊

बरेली में जिले की भुता पुलिस पर जमीन कब्जाने का गंभीरआरोप लगा

बरेली जिले की भुता पुलिस पर जमीन कब्जाने का गंभीरआरोप लगा है। शनिवार शाम हाईकोर्ट के आदेश पर एक टीम थाने की पैमाइश करने पहुंची। टीम में जिले के एसएसपी रोहित सिंह सजबान भी शामिल थे। फिलहाल टीम ने जमीन की नाप जोक के बाद रिपोर्ट हाईकोर्ट भेजने की बात कही है। रिपोर्ट में क्या लिखा जाएगा यह गुप्त रखा गया है।ग्राम रिछा निवासी माधुरी सिंह पत्नी राजेश कुमार सिंह कि थाने के पास गाटा संख्या 305 में कुछ भूमि है। जिसका विवाद काफी दिनों से चल रहा था। पीड़िता ने थाना दिवस मैं अफसरों के समक्ष मामला रखा था।

बहुजन इंडिया 24 न्यूज़ व बहुजन प्रेरणा दैनिक समाचार पत्र (सम्पादक मुकेश भारती ) मो ० 9336114041 )बरेली : ( राजदा \ जीनत – ब्यूरो रिपोर्ट )- दिनांक12 अप्रैल 2022- मंगलवार ।

इधर जमीन पर स्वीकृत थाना भवन का निर्माण भी शुरू हो गया। तो माधुरी ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की, जिसमें उन्होंने गाटा संख्या 305 में अपनी भूमि पर कब्जा करना बताते हुए पैमाइश की मांग की। बताया कि गाटा संख्या 305 में 1130 मीटर थाने की भूमि में 890 मीटर उसकी जमीन है।हाईकोर्ट ने मौके पर जाकर जांच पड़ताल तथा पैमाईश के आदेश दिए, जिस पर शनिवार को हाई कोर्ट के एडवोकेट कमिश्नर एस एन सिंह तथा बरेली के सिविल कोर्ट के मजिस्ट्रेट हरिश चंद्र, हाई कोर्ट से नियुक्त सर्वे अमीन तथा एसडीएम फरीदपुर अजय कुमार उपाध्याय, नायब तहसीलदार अभिषेक तिवारी, एसएसपी रोहित सिंह साजवान मय फोर्स के साथ थाना बता पहुंचे मजिस्ट्रेट ब अधिकारियों की मौजूदगी में भूमि की जांच की। मजिस्ट्रेट व सभी अधिकारियों ने टीम के साथ थाने के चारों ओर फीता डलवा कर पैमाइश करवाई माना जा रहा है कि इसकी रिपोर्ट हाईकोर्ट के भेजने के बाद ही स्पष्ट होगा। कि जिस भूमि में थाना भवन का निर्माण हो रहा है। उस भूमि में माधुरी की भूमि है या नहीं। इस दौरान प्रधान बृजेश गंगवार, हल्का लेखपाल राजस्व विभाग तथा शिकायतकर्ता माधुरी के पति राजेश सिंह व उनके पुत्र मौजूद रहे।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

[responsive-slider id=1466]
error: Content is protected !!