उधम सिंह नगर के रुद्रपुर में संविधान निर्माता डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की 131वी जयंती मनाया गया – बहुजन इंडिया 24 न्यूज

उधम सिंह नगर के रुद्रपुर में संविधान निर्माता डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की 131वी जयंती मनाया गया

1 min read

उधम सिंह नगर के रुद्रपुर में संविधान निर्माता डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की 131वी जयंती मनाया गया

😊 Please Share This News 😊

उधम सिंह नगर के रुद्रपुर में संविधान निर्माता डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की 131वी जयंती मनाया गया

उधम सिंह नगर के रुद्रपुर में संविधान निर्माता डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की 131वी जयंती मनाया गया । जहां मुख्य अतिथि के रूप में डीआईजी नीलेश आनंद भरणे एवं मेयर रामपाल सिंह मौजूद थे। वहीं डीआईजी नीलेश आनंद भरणे ने बाबा भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर दीप प्रज्वलित किया। और कहा कि डॉ भीमराव राव अंबेडकर के व्यक्तित्व के विषय में छात्रों को ज्ञान होना बेहद आवश्यक है। छात्र अपने ज्ञान का प्रयोग प्रतियोगी परीक्षा में कर सकते हैं।आज डॉ भीमराव आंबेडकर की 131वीं जयंती मनाई पूरे भारत में संसद के अलावा देशभर में बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर को श्रद्धांजलि दी जा रही है. बाबा साहेब की पहचान एक संविधान निर्माता के तौर पर होती है. इसके अलावा, वह भारतीय विधिवेत्ता, राजनीतिज्ञ, दार्शनिक, मानवविज्ञानी, इतिहासकार और अर्थशास्त्री भी थे. उन्होंने समाज के निचले तबके के उत्थान के लिए ढेरों काम किए हैं।

बहुजन इंडिया 24 न्यूज़ व बहुजन प्रेरणा दैनिक समाचार पत्र (सम्पादक मुकेश भारती ) मो ० 9336114041)उधम सिंह नगर : (वसीम हुसैन – ब्यूरो रिपोर्ट )- दिनांक15 अप्रैल 2022- शुक्रवार ।

उधम सिंह नगर के रुद्रपुर में संविधान निर्माता डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की 131वी जयंती मनाया गया । जहां मुख्य अतिथि के रूप में डीआईजी नीलेश आनंद भरणे एवं मेयर रामपाल सिंह मौजूद थे। वहीं डीआईजी नीलेश आनंद भरणे ने बाबा भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर दीप प्रज्वलित किया। और कहा कि डॉ भीमराव राव अंबेडकर के व्यक्तित्व के विषय में छात्रों को ज्ञान होना बेहद आवश्यक है। छात्र अपने ज्ञान का प्रयोग प्रतियोगी परीक्षा में कर सकते हैं।आज डॉ भीमराव आंबेडकर की 131वीं जयंती मनाई पूरे भारत में संसद के अलावा देशभर में बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर को श्रद्धांजलि दी जा रही है. बाबा साहेब की पहचान एक संविधान निर्माता के तौर पर होती है. इसके अलावा, वह भारतीय विधिवेत्ता, राजनीतिज्ञ, दार्शनिक, मानवविज्ञानी, इतिहासकार और अर्थशास्त्री भी थे. उन्होंने समाज के निचले तबके के उत्थान के लिए ढेरों काम किए हैं।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

[responsive-slider id=1466]
error: Content is protected !!