किशोरी की शादी तय करने पर पुलिस ने रोका, ग्रामीणों की सूझबूझ से बाल विवाह होने से रुका – बहुजन इंडिया 24 न्यूज

किशोरी की शादी तय करने पर पुलिस ने रोका, ग्रामीणों की सूझबूझ से बाल विवाह होने से रुका

1 min read

किशोरी की शादी तय करने पर पुलिस ने रोका, ग्रामीणों की सूझबूझ से बाल विवाह होने से रुका

😊 Please Share This News 😊

संवाददाता :  :लखीमपुर खीरी : : अमरेन्द्र सिंह :: किशोरी की शादी तय करने पर पुलिस ने रोका, ग्रामीणों की सूझबूझ से बाल विवाह होने से रुका

किशोरी की शादी तय करने पर पुलिस ने रोका, ग्रामीणों की सूझबूझ से बाल विवाह होने से रुका पिहानी कोतवाली क्षेत्र कल्याणी ग्राम पंचायत में बाल विवाह तय होने पर पुलिस ने रोक दिया। बाल विवाह तय होने की शिकायत लिखित शिकायत ग्रामीणों ने कोतवाली पिहानी में की थी।गांव वालों की सूचना पर कोतवाल डीके सिंह ने तत्काल मामले को गंभीरता से लेते हुए किशोरी की शादी तय न करने की हिदायत पिता को दी। ग्रामीणों की सूझबूझ से बाल विवाह होने से रुक गया। किशोरी के पिता ने कहा गांव के कुछ लोग रंजिशन‌ फसा रहे हैं। सुनील निवासी कल्याणी अपनी 14 वर्षीय पुत्री राधा की शादी करने के लिए शाहजहांपुर, हरदोई अन्य जिलों में लड़के देख रहा था।

बहुजन इंडिया 24 न्यूज़ व बहुजन प्रेरणा दैनिक समाचार पत्र (सम्पादक मुकेश भारती ) मो ० 9336114041)

किशोरी की शादी तय करने पर पुलिस ने रोका, ग्रामीणों की सूझबूझ से बाल विवाह होने से रुका पिहानी कोतवाली क्षेत्र कल्याणी ग्राम पंचायत में बाल विवाह तय होने पर पुलिस ने रोक दिया। बाल विवाह तय होने की शिकायत लिखित शिकायत ग्रामीणों ने कोतवाली पिहानी में की थी।गांव वालों की सूचना पर कोतवाल डीके सिंह ने तत्काल मामले को गंभीरता से लेते हुए किशोरी की शादी तय न करने की हिदायत पिता को दी। ग्रामीणों की सूझबूझ से बाल विवाह होने से रुक गया। किशोरी के पिता ने कहा गांव के कुछ लोग रंजिशन‌ फसा रहे हैं। सुनील निवासी कल्याणी अपनी 14 वर्षीय पुत्री राधा की शादी करने के लिए शाहजहांपुर, हरदोई अन्य जिलों में लड़के देख रहा था। शादी तय करने की सूचना गांव के लालाराम व अन्य लोगों को पता चली ।लालाराम ने बाल विवाह की सूचना पिहानी कोतवाली डीके सिंह को दी। बाल विवाह को गंभीरता से कोतवाल डीके सिंह ने लिया। पुलिस बल भेजकर पिता सुनील और पुत्री राधा को कोतवाली में बुलवाया। कोतवाल डीके सिंह ने पिता सुनील की जमकर फटकार लगाई। कोतवाल ने कहा कि राधा के बालिक हो जाने के बाद ही शादी तय करें ।अन्यथा कड़ी कार्रवाई का संकेत दिया। इस मौके पर उन्होंने मौजूद लोगों से कहा कि बाल विवाह, बचपन खत्‍म कर देता है। बाल विवाह बच्‍चों की शिक्षा, स्‍वास्‍थ्‍य और संरक्षण पर नकारात्‍मक प्रभाव डालता है। बाल विवाह का सीधा असर न केवल लड़कियों पर, बल्कि उनके परिवार और समुदाय पर भी होता हैं।कोतवाली में मौजूद लोगों ने कोतवाल डीके सिंह की कार्यशैली की भूरी भूरी सराहना की। नवनीत कुमार राम जी कोतवाल डीके सिंह ने पिता से भरवाया शपथ पत्र पुलिस ने पिता‌ सुनील से शपथ पत्र भरवाया गया कि बालिग होने से पहले बेटी की शादी नहीं करेंगे। कोतवाल डीके सिंह ने कड़ी हिदायत देते हुए कहा कि किशोरी राधा की शिक्षा पर ध्यान दें ।बाल विवाह कानूनन अपराध है। राधा के बालिक होने तक शादी करने का इंतजार करें। कोतवाली क्षेत्र के गणमान्य व संभ्रांत लोगों से अपील करते हुए डीके सिंह ने कहा कि बाल अपराध व बाल विवाह यदि कहीं हो रहा है तो तत्काल सूचना कोतवाली पिहानी को दें।

 

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

[responsive-slider id=1466]
error: Content is protected !!