मेरठ में पांच दिन में 450 टेंपो टैक्सी सीज किए – बहुजन इंडिया 24 न्यूज

मेरठ में पांच दिन में 450 टेंपो टैक्सी सीज किए

1 min read

मेरठ में पांच दिन में 450 टेंपो टैक्सी सीज किए

😊 Please Share This News 😊

संवाददाता :  : मेरठ : : राजीव नानू :: मेरठ में पांच दिन में 450 टेंपो टैक्सी सीज किए

पांच दिन में 450 टेंपो टैक्सी सीज किए हैं जनपद मेरठ में जनपद मेरठ से बहुत बड़ी खबर आ रही है अवैध रूप से बनें टेंपो और टैक्सी स्टैंड के खिलाफ कार्रवाई जारी है पांच दिन में ही साढ़े चार सौ टेंपो टैक्सियों को सीज किया गया है और लाखों रुपए का जुर्माना भी वसूला किया गया है वहीं पर सड़कों से टेंपो और टैक्सियों को हटाने से लोगों को सड़कों पर ही खड़े रहने पड़ा है और शहर में जगह जगह बनें अवैध टेंपो टैक्सी स्टैंड जहां यातायात को भी प्रभावित करतें हैं।

बहुजन इंडिया 24 न्यूज़ व बहुजन प्रेरणा दैनिक समाचार पत्र (सम्पादक मुकेश भारती ) मो ० 9336114041)

पांच दिन में 450 टेंपो टैक्सी सीज किए हैं जनपद मेरठ में जनपद मेरठ से बहुत बड़ी खबर आ रही है अवैध रूप से बनें टेंपो और टैक्सी स्टैंड के खिलाफ कार्रवाई जारी है पांच दिन में ही साढ़े चार सौ टेंपो टैक्सियों को सीज किया गया है और लाखों रुपए का जुर्माना भी वसूला किया गया है वहीं पर सड़कों से टेंपो और टैक्सियों को हटाने से लोगों को सड़कों पर ही खड़े रहने पड़ा है और शहर में जगह जगह बनें अवैध टेंपो टैक्सी स्टैंड जहां यातायात को भी प्रभावित करतें हैं। वहीं पर अवैध वसूली के बड़े बड़े अड्डे बन जाते हैं इसको देखते हुए खुद माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने इन पर कार्रवाई के लिए कह चुके हैं जिसके बाद 25 तारीख से लगातार अफसरों ने अवैध टेंपो टैक्सी के खिलाफ अभियान चलाकर इस दौरान यातायात पुलिस व थाना पुलिस व परिवहन व नगर निगम व रोड़वेज के अधिकारियों की संयुक्त टीम कार्यवाही कर रही है पांच दिन में टीम ने चार सौ सत्तावन टेंपो टैक्सी की सीज कर चुके हैं और साढ़े पांच लाख रुपए का जुर्माना भी वसूला गया है एसपी ट्रैफिक ने बताया कि अवैध स्टैंड और वाहनों के खिलाफ लगातार अभियान जारी रहेगा और सीज किए गए वाहनों को पुलिस लाइन में खड़े किए जा रहे हैं और मुसाफिरों को आने व जाने में बहुत सी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है और बस वाले मन मर्ज़ी किराया ले रहे मुसाफिरों से जब कि सरधना बाईपास से टेंपो वाले बेगमपुल तक के 15 रुपए लेते हैं और रोड़वेज बस वाले 20 से 25 रुपए ले रहे हैं।

 

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

[responsive-slider id=1466]
error: Content is protected !!