स्वर्गीय गंगा जली की प्रथम श्रद्धांजलि सभा सेवानिवृत्त प्रधानाध्यापक धमसादीन रावत के नेतृत्व में संपन्न हुई – बहुजन इंडिया 24 न्यूज

स्वर्गीय गंगा जली की प्रथम श्रद्धांजलि सभा सेवानिवृत्त प्रधानाध्यापक धमसादीन रावत के नेतृत्व में संपन्न हुई

1 min read

स्वर्गीय गंगा जली की प्रथम श्रद्धांजलि सभा सेवानिवृत्त प्रधानाध्यापक धमसादीन रावत के नेतृत्व में संपन्न हुई

😊 Please Share This News 😊

संवाददाता :  : अयोध्या : : गोपीनाथ रावत:: स्वर्गीय गंगा जली की प्रथम श्रद्धांजलि सभा सेवानिवृत्त प्रधानाध्यापक धमसादीन रावत के नेतृत्व में संपन्न हुई

स्वर्गीय गंगा जली की प्रथम श्रद्धांजलि सभा सेवानिवृत्त प्रधानाध्यापक धमसादीन रावत के नेतृत्व में संपन्न हुई अमानीगंज-अयोध्या अपने पैतृक आवास पांडे का पुरवा में सेवानिवृत्त प्रधानाध्यापक धमसादीन के नेतृत्व में उनकी धर्मपत्नी गंगा जली की प्रथम श्रद्धांजलि सभा मनाई गई। श्रद्धांजलि सभा में वर्तमान विधायक मिल्कीपुर व पूर्व कैबिनेट मंत्री अवधेश प्रसाद रहे मौजूद गंगा जली को नम आंखों से दी श्रद्धांजलि श्रद्धांजलि सभा को संबोधित करते हुए पूर्व मंत्री अवधेश प्रसाद ने कहा की मां का ममत्व और प्यार शब्दों से नहीं बयां किया जा सकता दुनिया का सारा प्यार मां के आंचल में होता है। मुख्य अतिथि सी एच आई श्रीपाल ने अपने संबोधन में कहा कि हम सब शिक्षा पर ध्यान दें अपने बच्चों को दुनिया की सब उपलब्धि हासिल करवा सकते हैं बिन शिक्षा जगत भा सूनाजैसे बिना नेत्र के संसार की वस्तुएं नहीं दिखाई देती है ठीक उसी प्रकार बिना शिक्षा के संसार की उन्नति नहीं दिखाई पड़ती है। आईटीआई सेवानिवृत्त प्रधानाचार्य बृजलाल पासी ने कहा मां के चरणों में जन्नत होती है राजकुमार मास्टर ने कहा कि मृत्यु भोज बंद करो शिक्षा पर हमारी समाज ध्यान दें समाज को खिलाने का मन है तो तमाम बहाने हैं किसी भी बहाने से जन्मदिन सालगिरह इतिहास पर समाज को खिलाएं लेकिन मुझे तो उस पर नहीं देवता दिन यादव ने सभा में उपस्थित सभी लोगों को धन्यवाद ज्ञापित किया डॉ गंगा प्रसाद मौर्य ने श्रद्धांजलि सभा को संबोधित करते हुए कहा की मां के बारे में जितना भी कहा जाए उतना ही कम है मैं भगवान बुद्ध को चरण वंदन करता हूं आपका बंदन अर्पण है तन मन धन करते हैं बुद्ध की चरण बंदगी।

बहुजन इंडिया 24 न्यूज़ व बहुजन प्रेरणा दैनिक समाचार पत्र (सम्पादक मुकेश भारती ) मो ० 9336114041)

त्रिलोकीनाथ ने श्रद्धांजलि सभा को संबोधित करते हुए कहा कि संघे शक्ति कलियुगे एकता में ही शक्ति है प्रधानाध्यापक जीवन रावत ने अपने संबोधन में कहा अपने बच्चों को पढ़ाओ एकता बनाओ और डॉक्टर अंबेडकर को पढ़ो परिवार को आगे बढ़ाना है तो शिक्षा जरूरी है सुखी बाबा साहब भीमराव अंबेडकर ने कहा था शिक्षा वह शेरनी का दूध है जो पीता है दहाड़ता है। श्रद्धांजलि सभा को राजेंद्र रावत ने भी संबोधित किया श्रद्धांजलि सभा को संबोधित करते हुए राज्यपाल ने कहा लड़ गए दोनों पर आने बस बात बात में हनुमान प्रसाद ने कहां मां की चरणों में समर्पित है किसी के हिस्से में मकान किसी के हिस्से में दुकान मैं सबसे छोटा हूं इसलिए मेरे हिस्से में मां जाति व्यवस्था से ही मेरा हिंदुस्तान पिछड़ा है सीबीएन जाने मां पर गीत गाकर संदली सभा में समा बांध दिया पूर्व जिला पंचायत सदस्य ग्राम प्रधान सियाराम रावत ने मां की ममता प्यार दुलार पर विस्तार से प्रकाश डाला। एमआर शास्त्री ने सभा को धन्यवाद ज्ञापित कियाअखिल भारतीय पासी कल्याण परिषद के महासचिव राम अवध ने सभा को संबोधित करते हुए कहा श्रद्धांजलि सभा का मतलब अपने आप को समर्पित करना होता है हम आज मां के चरणों में समर्पित हैं सीडीआरआई सुरेश चंद्र रावत ने अपने वक्तव्य में कहा कि हमें अपने भाग्य पर नहीं बल्कि कर्म पर भरोसा करना चाहिए शिक्षा प्राप्त करके ही हम आगे बढ़ सकते हैं । श्रद्धांजलि सभा को संबोधित करते हुए रामधनी मास्टर ने कहा मां तेरी यही कहानी आंचल में है दूध औरआंखों में है पानी मां तेरी यही कहानी। श्रद्धांजलि सभा का कुशल संचालन पासी समाज के पुरोधा प्रकांड विद्वान अरविंद कुमार शास्त्री ने किया अरविंद कुमार शास्त्री ने शिक्षा दीक्षा और समाज के प्रति जितने सजग हैं जो प्रेरणा दे रहे हैं बधाई के पात्र हैं शब्दों से उनकी व्याख्या नहीं की जा सकती जितना भी कहा जाए उतना ही कम है वह अवतारी पुरुष है हमारे प्रेरणा स्रोत हैं अनुकरणीय है श्रद्धांजलि सभा में जरूरतमंद महिलाओं को लगभग 40 साड़ी व पुरुषों को अंग वस्त्र फल आदि वितरित किया गयाअखिल भारतीय पासी कल्याण परिषद के रामदीन रावत, प्रधान माताफेर रावत, रामनाथ मास्टर, रामप्रकाश यादव,साधू प्रधान ,रामचरन रावत सेवानिवृत्त प्रधानाध्यापक घिसई राम, बासुदेव मास्टर ,लल्लन रावत रतीपाल जोखन लाल ,सोहनलाल किसान यूनियन नेता सुद्धू भारती डॉ रामप्रकाश यादव, डॉ. राम गनेश मौर्य मीरा, शिवानी, कंचन, आदि भारी संख्या में महिलाएं बच्चें व संभ्रांत व्यक्ति मौजूद रहे।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

[responsive-slider id=1466]
error: Content is protected !!