सिविल कोर्ट अयोध्या में आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में लगभग 60000 वादों को किया निस्तारित – बहुजन इंडिया 24 न्यूज

सिविल कोर्ट अयोध्या में आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में लगभग 60000 वादों को किया निस्तारित

1 min read

Ayodhya lokadalt 14-5-2022

😊 Please Share This News 😊

संवाददाता -अयोध्या :फूलचंद ।अयोध्या जिले के सिविल कोर्ट में आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में लगभग 60000 वादों को निस्तारित किया गया, जिसमें लगभग चौदह करोड़ (14,0000000) रूपये की वसूली धनराशि पर समझौता किया गया आज दिनांक 14.05.2022 को प्र० जनपद न्यायाधीश/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, फैजाबाद श्रीमती चन्द्रशीला द्वारा दीप प्रज्वलित कर राष्ट्रीय लोक अदालत का शुभारंभ किया गया। माननीय जनपद न्यायाधीश/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, फैजाबाद श्रीमती चन्द्रशीला द्वारा बताया गया कि राष्ट्रीय लोक अदालत बड़े पैमाने पर आयोजित किया जा रहा है। इसका मुख्य उद्देश्य अधिक से अधिक मुकदमों का निस्तारण किया जाना है, जिससे की राष्ट्रीय लोक अदालत में निस्तारण का नया कीर्तिमान स्थापित किया जा सके।

Ayodhya lokadalt 14-5-2022

शैलेन्द्र सिंह यादव नोडल अधिकारी राष्ट्रीय लोक अदालत एवं श्रीमती रिचा वर्मा सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, जनपद न्यायालय फैजाबाद के अनुसार दिनांक 14.05.2022 को आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में लगभग 60000 वादों को निस्तारित किया गया, जिसमें लगभग चौदह करोड़ (14,0000000) रूपये की वसूली धनराशि पर समझौता किया गया। भूदेव गौतम न्यायाधीश मोटर दुर्घटना दावा न्यायाधिकरण द्वारा कुल 101 वाद निस्तारित किये गये, जिस पर कुल 54204456.00 रू0 की धनराशि क्षतितपूर्ति निर्धारित की गयी।पीठासीन अधिकारी वर्चुअल कोर्ट अंशुमान यादव द्वारा कुल लगभग 17000 वादों का निस्तारण किया गया, जो कि अपने आप में एक बड़ी उपलब्धि है। बैंक रिकवरी से संबंन्धित 972 प्री-लिटिगेशन वाद निस्तारित किये गये तथा बैंक संबंन्धित ऋण मु0- 67875135.00 रू0 वसूल किये गये। पारिवारिक न्यायालय द्वारा 112 मुकदमों को निस्तारित किया गया, जिसमें कई पुराने वाद निस्तारित किये गये। संबंधित मजिस्ट्रेट न्यायालयों द्वारा लगभग 4100 फौजदारी वादों को निस्तारित किया गया। सिविल न्यायालय द्वारा कुल 101 मामलों का निस्तारण किया गया जिसमें मु0 9744329.00 रू0 का उत्तराधिकार प्रमाण पत्र आदि जारी किया गया।

राजस्व मामलों से संबन्धित 38833 वाद विभिन्न राजस्व न्यायालय द्वारा निस्तारित किये गये। इस प्रकार राष्ट्रीय लोक अदालत में लगभग साठ हजार (60000) मामलों का निस्तारण किया गया, जिसमें लगभग चौदह करोड़ (14,0000000) रूपये की वसूली धनराशि पर समझौता किया गया। राष्ट्रीय लोक अदालत के आयोजन से महिलाओं, विकलांगों व वरिष्ठ नागरिकों, पिछड़े वर्गों, अनुसूचित जाति/जनजाति एंव सामान्य वर्ग के लोग लाभान्वित हुए। इसके अलावा राष्ट्रीय लोक अदालत में निःशुल्क एलोपैथिक चिकित्सा शिविर एंव होम्यो पैथिक चिकित्सा शिविर का भी आयोजन किया गया जिसमें न्यायिक अधिकारीगण, कर्मचारीगण, अधिवक्तागण एंव वादकारीगण द्वारा जाँच कराया और आवश्यक परामर्श लिया।

रिपोर्ट ब्यूरो चीफ फूलचन्द्र अयोध्या।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

[responsive-slider id=1466]
error: Content is protected !!