59वीं वाहिनी सशस्त्र सीमा बल नानपारा में पुलिस स्मृति दिवस के उपलक्ष्य में शहीदों को नमन एवं श्रद्दांजलि दिया गया – बहुजन इंडिया 24 न्यूज

59वीं वाहिनी सशस्त्र सीमा बल नानपारा में पुलिस स्मृति दिवस के उपलक्ष्य में शहीदों को नमन एवं श्रद्दांजलि दिया गया

1 min read
😊 Please Share This News 😊

संवाददाता : : बहराइच   :: अजीत कुमार चक्रवर्ती :: Date :: 22 .10 .2022 :: 59वीं वाहिनी सशस्त्र सीमा बल नानपारा में पुलिस स्मृति दिवस के उपलक्ष्य में शहीदों को नमन एवं श्रद्दांजलि दिया गया

बहराइच में 59वीं वाहिनी सशस्त्र सीमा बल नानपारा में पुलिस स्मृति दिवस के उपलक्ष्य में शहीदों को नमन एवं श्रद्दांजलि दिया गया दिनांक 21.10.2022 को 59वी वाहिनी सशस्त्र सीमा बल नानपारा के प्रागण में पुलिस स्मृति दिवस के उपलक्ष्य में शहीदों की शहादत को याद कर के उनको स्मरण किया गया साथ ही आरक्षी (सा.) घनश्याम गुर्जर 59वीं वाहिनी सशस्त्र सीमा बल नानपारा जो दिनांक 14.10. 2016 को जम्मू कश्मीर ड्यूटी के दौरान आतंकवादियों से लड़ते हुए शहीद हो गए. उनकी शहादत को याद कर पुष्पचक्र श्रद्धा सुमन अर्पित कर भावभीनी श्रद्धांजलि दिया।

बहुजन प्रेरणा दैनिक समाचार पत्र व बहुजन इंडिया 24 न्यूज़ (सम्पादक- मुकेश भारती ) किसी भी शिकायत के लिए सम्पर्क करे – 9336114041

जिसमे वाहिनी के अधिकारी कार्मिको ने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया।इस अवसर पर स्वर्णजीत शर्मा, कमांडेंट 59वी वाहिनी ने बताया कि भारत में हर साल 21 अक्टूबर को राष्ट्रीय पुलिस स्मृति दिवस मनाया जाता है। यह दिन उन पुलिसकर्मियों की शहादत को याद करने और उनके सम्मान में मनाया जाता है, जिन्होंने ने अपना जीवन अपने कर्तव्यो का पालन करने में लगा दिया। पुलिस स्मृति दिवस 21 अक्टूबर 1959 को लहाख के हॉट स्प्रिंग में भरी हथियारों से लैस चीनी सैनिको द्वारा बीस भारतीय सैनिकों पर हमला किया गया था, जिसमे 10 भारतीय पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे और 07 को बंदी बना लिया गया था । उस दिन के बाद से हर साल 21 अक्टूबर को राष्ट्रीय पुलिस स्मृति दिवस के रूप में मनाया जाता है और शहीदों की शहादत को याद कर के उनको शत शत नमन एवं श्रद्धांजलि दिया जाता है। इस कार्यक्रम के दौरान शक्ति सिंह ठाकुर द्वितीय कमान अधिकारी, शेखर बजाज उप-कमांडेंट, वैभव उप-कमांडेंट डा. विकास कुमार उप-कमांडेंट (पशु चिकित्सा), निरीक्षक (सा.) बालकिशन जयसवाल एवं वाहिनी के समस्त अधीनस्थ अधिकारी एवं अन्य कार्मिक उपस्थित रहे।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

[responsive-slider id=1466]
error: Content is protected !!