2021: इस साल का पहला सूर्य ग्रहण, पढ़िए किन शहरों में कैसा दिखेगा इसका नजारा – बहुजन इंडिया 24 न्यूज

2021: इस साल का पहला सूर्य ग्रहण, पढ़िए किन शहरों में कैसा दिखेगा इसका नजारा

1 min read
😊 Please Share This News 😊

बहुजन इंडिया 24 न्यूज़ व बहुजन प्रेरणा दैनिक हिंदी समाचार पत्र (सम्पदाक मुकेश भारती) 9161507983
मथुरा :(विजय कुमार ब्यूरो रिपोर्ट )


2021: इस साल का पहला सूर्य ग्रहण, पढ़िए किन शहरों में कैसा दिखेगा इसका नजारा

नई दिल्ली। आज वर्ष 2021 का पहला सूर्य ग्रहण दिखेगा। अगर इस सूर्य ग्रहण की बात करें तो यह वलयाकार होगा। आपको बता दें कि यह खगोलीय घटना तब होती है जब सूर्य, चंद्रमा और पृथ्वी एक सीधी रेखा में आते हैं। इस सूर्य ग्रहण से दिन दुनियाभर के कई देशों में रिंग ऑफ फायर का नजारा भी दिखेगा। जिसके के दौरान चंद्रमा की परछाई सूर्य को करीब 94 फीसदी हिस्से को पूरी तरह से घेर लेती है। लिहाजा इस दौरान सूरज हीरे की अंगूठी की तरह चमकता दिखता है। वैज्ञानिक भाषा में इसे इसे रिंग ऑफ फायर के नाम से जाना जाता है।मिली जानकारी के अनुसार इस सूर्य ग्रहण का असर भारत में बहुत ज्यादा नहीं देखने को मिलेगा। अरुणाचल प्रदेश और लद्दाख के कुछ हिस्सों में सूर्यास्त से कुछ समय पहले यह दिखाई देगा। एम पी बिरला तारामंडल के निदेशक देबीप्रसाद दुरई ने कहा कि सूर्य ग्रहण भारत में अरुणाचल प्रदेश और लद्दाख के कुछ हिस्सों में ही दिखाई देगा।भारत में कब दिखेगा सूर्य ग्रहण
अरुणाचल प्रदेश में दिबांग वन्यजीव अभयारण्य के पास से शाम लगभग 5:52 बजे इस खगोलीय घटना को देखा जा सकेगा। वहीं, लद्दाख के उत्तरी हिस्से में, जहां शाम लगभग 6.15 बजे सूर्यास्त होगा, शाम लगभग छह बजे सूर्य ग्रहण देखा जा सकेगा।दुनिया के बाकी हिस्से में सूर्य ग्रहण का समय

ये सूर्य ग्रहण उत्तरी अमेरिका, यूरोप और एशिया के बड़े क्षेत्र में सूर्य ग्रहण देखा जा सकेगा. भारतीय समयानुसार पूर्वाह्न 11:42 बजे आंशिक सूर्य ग्रहण होगा और ये अपराह्न 3:30 बजे से वलयाकार रूप लेना शुरू करेगा तथा फिर शाम 4:52 बजे तक आकाश में सूर्य अग्नि वलय (आग की अंगूठी) की तरह दिखाई देगा।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

[responsive-slider id=1466]
error: Content is protected !!