मैनपुरी : जिला प्रशासन की सख्ती के बाद भी कोटेदार कर रहा मनमानी – बहुजन इंडिया 24 न्यूज

मैनपुरी : जिला प्रशासन की सख्ती के बाद भी कोटेदार कर रहा मनमानी

1 min read
😊 Please Share This News 😊

बहुजन इंडिया 24 न्यूज़ व बहुजन प्रेरणा दैनिक हिंदी समाचार पत्र ( सम्पादक मुकेश भारती ) 9161507983

मैनपुरी : (सुजाउददीन – ब्यूरो रिपोर्ट )


मैनपुरी : जिला प्रशासन की सख्ती के बाद भी कोटेदार कर रहा मनमानी

जिला प्रशासन की सख्ती के बाद भी कोटेदार कर रहा मनमानी लॉकडाउन में सरकार से मिल रहे खाद्यान्न पर कोटेदार डाल रहे डांका रामनगर/मैनपुरी।क्षेत्र के ग्राम  गुलारियापुर में कोटा डीलर अजय तिवारी पर कार्ड धारक  देशराज निवासी अभयपुर  ने कम राशन देने का आरोप लगया उन्होंने बताया कि  हमे  प्रति यूनिट पर 5 किलो राशन या अन्य खाद्यान्न मिलना चाहिए, लेकिन कोटेदार को पात्र गृहस्थी कार्ड पर घर मे 4 यूनिट हैं। तो 20 किलो मिलना चाहिए लेकिन कोटेदार ने हमें 16 किलो ही राशन दिया है 4 किलो मेरा राशन डीलर अजय तिवारी ने रख लिया। जब ग्रहक से बात हो ही रही थी उसी बक्त दुकान से उठाकर वहाँ कोटा डीलर भी आ गये और कार्ड धारक से बोलने लगे कि कह दो 20 किलो दिया हैं। उस बक्त कैमरा भी कहां बंद था तो  ये सारी बात कैमरे में कैद हो गई। कोटेदार कार्डधारकों को राशन चावल व गेंहू कम वितरित कर रहे हैं। ऐसी कई शिकायतें सामने आईं हैं। कोटेदार चावल हड़प रहे हैं। कार्ड धारक इसका विरोध करते हैं तो कोटेदार उच्च अधिकारियों का हवाला देकर कार्ड धारकों को बोल देते हैं। कोरोना महामारी में खाद्यान्न वितरण की सबसे बेकार स्थिति ग्रामीण इलाकों की है।कुछ हद तक स्थिति ठीक सामने आ रही है। जिला अधिकारी महेंद्र बहादुर सिंह खाद्यान्न वितरण को गंभीरता से ले रहे हैं। इसके बावजूद इसके कोटेदार मनमानी पर उतारू हैं। पात्र गृहस्थी कार्ड धारकों को प्रत्येक यूनिट पर एक किलो राशन कम दे रहे हैं। वहीं अंत्योदय कार्ड धारकों को मिलना 35 किलो चावलों व गेंहू लेकिन कोटा डीलर 28 किलो ही दे रहे हैं। इतबार को क्षेत्र के कई गांवों में चावल का वितरण हुआ। जहां से कई शिकायतें सामने आईं। इस महामारी में भी कोटेदारों की मनमानी के चलते कार्ड धारकों में आक्रोश फैला है।वीरपाल सिंह  सुनील सक्सेना,बबलू सक्सेना,राजाराम,महेंद्र सिंह,रामसिंह कश्यप।


(सुजाउददीन – ब्यूरो रिपोर्ट )

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

[responsive-slider id=1466]
error: Content is protected !!