मथुरा राजस्थान के जिला भरतपुर में जाटव महासभा समिति के पदाधिकारियों के खिलाफ धरना प्रदर्शन – बहुजन इंडिया 24 न्यूज

मथुरा राजस्थान के जिला भरतपुर में जाटव महासभा समिति के पदाधिकारियों के खिलाफ धरना प्रदर्शन

1 min read
😊 Please Share This News 😊

मथुरा राजस्थान के जिला भरतपुर में जाटव महासभा समिति के पदाधिकारियों के खिलाफ धरना प्रदर्शन

राजस्थान के जिला भरतपुर में जाटव महासभा समिति के पदाधिकारियों ने समाज पर हो रहे दिन प्रतिदिन अत्याचार के खिलाफ किया धरना प्रदर्शन भरतपुर । आज 7 मार्च को जाटव महासभा समिति भरतपुर के तत्वावधान में समाज पर हो रहे अत्याचार उत्पीड़न के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया गया। जिसमें निम्न घटनाओं को लेकर प्रदर्शन किया गया। 1. मु.नं. 0045/22 पुलिस थाना वैर में एस.सी / एस.टी एक्ट व 354 व अन्य कई गम्भीर धाराओं में गुकदमा दर्ज हुये काफी दिन व्यतीत होने के बावजूद भी आज तक कोई कार्यवाही नहीं की गयी है।

बहुजन इंडिया 24 न्यूज़ व बहुजन प्रेरणा दैनिक समाचार पत्र (सम्पादक मुकेश भारती ) मो ० 9336114014 )मथुरा : ( विजय कुमार – ब्यूरो रिपोर्ट )- दिनांक8 मार्च 2022- मंगलवार ।

व राजनैतिक दबाव के चलते जाँच अधिकारी सी०ओ० भुसावर, इस मामले में अपराधियों से साँठगाँठ कोई कार्यवाही नहीं कर रहा है। अपराधी खुले आम पीडित परिवार को राजीनामा के लिये डरा धमका रहे हैं। 2. मु.नं. 0050/22 थाना वैर में एस.सी. / एस.टी एक्ट व कई अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज हुये काफी दिन व्यतीत होने के बावजूद भी उक्त प्रकरण में कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है। इस मामले में लिप्त आरोपी क्षेत्रीय विधायक के बहुत करीवी हैं। इस कारण उक्त मामले में कोई कार्यवाही नहीं की गयी है।3. गुनं. 0048 / 22 थाना अटलबंद, भरतपुर क्षेत्र में करीब एक महीने पहले दर्ज हुआ जिसमें एक दलित लड़की को कुछ असामाजिक तत्व लडकी का अपहरण करके ले गये और कई दिनों तक उसके साथ दुष्कर्म किया था। घर वालों की शिकायत पर पुलिस खुद उस लडकी को उन अपहरणकर्ताओं के चंगुल से छुडा कर लायी थी। लेकिन राजनैतिक दबाव के चलते इस मामले में अभी तक कोई भी कार्यवाही नहीं हुई है।4. मु.नं. 0085 / 22 थाना भुसावर में पिछले कई दिनों पहले दर्ज हुआ इस मामले में एक दलित समाज के लड़के को कुछ असामाजिक तत्वों ने घेरकर उसे जातिसूचक शब्दों से अपमानित कर उसके साथ मारपीट की फिर भी जाँच अधिकारी सी०ओ० मुसावर ने आरोपियों से साँठ गाँठ कर मामले को दबाने का प्रयास किया जा रहा है और अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की गयी है।5. मु.नं. 300/ 2021 थाना पैर में धारा 354 व 11, 12, पोक्सो एक्ट में दर्ज हुये करीव 4 महीने हो गये पीडित परिवार इस मामले में न्याय के लिये सभी आलाअधिकारियों तक ज्ञापन के जरिये कार्यवाही हेतु निवेदन कर चुका है। और न्याय के लिये दर दर भटक रहा है। श्रीमान इस मामले में भी पिछले 4 महीने से अभी तक कोई उचित कार्यवाही नहीं की गयी है। 8. कुम्हेर थाना क्षेत्र के गाँव सैथरी के पास करीव एक 10 बीघा सिवायचक है एवं सरकारी जमीन है। जिस पर 100 वर्षों से जाटव समाज का आधिपत्य है और उस जमीन पर जाटव समाज का बहुत प्राचीन हनुमान मंदिर व पानी पीने का कूआ आदि अन्य देवताओं के थान स्थान बने हुये थे। उन्हीं सबकी दुवारा से मरम्मत व साफ सफाई कुछ दिन पहले जाटव समाज के लोग कर रहे थे। तो उसी गाँव में कुछ अदरकास्ट के दबंग लोगों ने नेताओं आदि से मिलकर उस जमीन पर कोर्ट द्वारा स्टे लगवा दिया और मरम्मत का कार्य रूकवा दिया था। इसी मामले के चलते दोनों पक्षों में कहा सुनी हो गयी और अपने-अपने घर चले गये। दूसरे दिन अदरकास्ट के दबंग लोगों ने एक दलित समाज की गरीव महिला के धन का लालच देकर सैथरी गाँव के जाटव समाज के करीब 20 लोगों के खिलाफ छेडछाड व कई अन्य धाराओं में झूठा मुकदमा दर्ज करवा दिया था। अतः श्रीमान जी कुम्हेर थाना पुलिस उसी झूठे • मामले में सैथरी गाँव के लोगों को उठा कर थाने लाती है और उनके साथ मारपीट करती है और झूंठे मुकदमें में बन्द कर देती है। उक्त सभी मामलों को लेकर समाज में भारी आक्रोश है। श्रीमान जी से निवेदन है कि उक्त सभी प्रकरणों में आगामी 5 दिवस में कार्यवाही नहीं हुई तो जिला जाटव महासभा व समस्त सामाजिक संगठन मिलकर उग्र आन्दोलन करने पर मजबूर होगें जिसकी समस्त जिम्मेदारी जिला प्रशासन की होगी ।इस मौके पर जिला जाटव महासभा समिति भरतपुर के जिला अध्यक्ष राजकुमार पप्पा ,मोती सिंह पार्षद, रामवीर जाटौलिया ,एड. राजेन्द्र सोना,जीतेन्द्र कुमार, मोनू होडलिया,लक्ष्मण कैन,हंसलाल, पुष्पेन्द्र कुमार, शिवचरण ठेकेदार, तेजसिह नसवारिया, देशराज बारौली,जीतेन्द्र मेहरा, बृजेश कुमार, साहबसिह अहेरिया ,प्रवीन कुमार, राजन सिह, विशाल शास्त्री, मेघसिह, सोरव, गजेन्द्र सिंह, राकेश नौनिया,मदन मुंशी,रवी कुमार ,दीपक कुमार,मोनू कुमार, राजेश कुमार, संतराम, नरेंद्र कुमार सहित सैकडो सामाजिक कार्यकर्ता व कई संगठनो के जिम्मेदार पदाधिकारी मौजूद रहे।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

[responsive-slider id=1466]

You may have missed

error: Content is protected !!