मुन्ना मुझको वचन दे कि तू मुझे कभी धोखा नहीं देगा – बहन कु०मायावती – बहुजन इंडिया 24 न्यूज

मुन्ना मुझको वचन दे कि तू मुझे कभी धोखा नहीं देगा – बहन कु०मायावती

1 min read
😊 Please Share This News 😊

बहुजन इंडिया 24 न्यूज़ व बहुजन प्रेरणा दैनिक हिंदी समाचार पत्र (सम्पादक मुकेश भारती ) 9161507983

मथुरा( विजय कुमार सिटी रिपोर्टर)


मुन्ना मुझको वचन दे कि तू मुझे कभी धोखा नहीं देगा – बहन कु०मायावती

आज का ही दिन था और समय भी लगभग यही था (26-5-2018) मा० बहन जी ने मुझको पार्टी(बसपा) का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं नेशनल कोऑर्डिनेटर बनाया था। बनाने से पहले पूर्व की रहीं चर्चाओं में मा० बहन जी ने मुझसे तीन वचन लिए।1.मुन्ना(जय प्रकाश) मुझे वचन दे कि तू कभी शादी नही करेगा।
2.मुझको वचन दे कि तू कभी अपने घर वापिस नही जाएगा।3.तू कभी मुझको धोखा तो नही देगा।मेरी आंखों में आंसू आ गए और मैं बोला:- जी बहन जी।
मैंने रूम पर पहुँचकर पार्टी के वरिष्ठ साथियों से पूछा कि मा०बहन जी ने इस प्रकार के वचन क्या पहले भी किसी और से लिये हैं ? उत्तर मिला नही। फिर मैंने रात को खुद से पूछा(उस दृश्य को महसूस करते हुए) और एक एक पर अध्ययन किया।1. मुन्ना तू कभी शादी नही करेगा…..पता चला कि मा० बहन से बहुत से साथियों ने बोला था कि बहन जी मैं अविवाहित रह कर पार्टी/मिशन की सेवा करना चाहता हूँ। बहन ने उनको पैसे देते हुए कहा कि घर जाकर इन पैसों से अच्छी सी लड़की देखकर शादी कर लो। अथार्थ बहन जी ने खुद किसी से नही कहा कि तू शादी मत करना।2. तू कभी अपने घर वापिस नही जाएगा…..पता चला कि पार्टी/मूवमेंट का कोई ऐसा नेता नही जो अपने घर ना जाता हो। 3. तू मुझको कभी धोखा तो नही देगा ना ….. यह वह वाक्य था जिस पर मैं रो पड़ा था। मैं समझ गया था कि जिन पर भी भरोसा किया उनमे से अधिकांश लोगों ने मा०बहन जी को धोखा दिया।(जिनको विधायक, सांसद, मंत्री तक बनाया) ऐसे ही एक एक करके छोटी मोटी बातों की वजह से लोग छोड़ते चले गए तो फिर इस आंदोलन का क्या होगा ?इन तीनों वचनों का सही अर्थ/कारण मुझको तब समझ आया जब मुझको पार्टी से बाहर निकाला गया और उस समय मुझको वो तीनों वचन याद आए कि ये तीन वचन मुझसे ही क्यों लिये गए।(ये तो कुछ कुछ वो वचन हैं जो साहब कांशीराम जी ने समाज को दिए थे)●पार्टी से निकलने के बाद मुझसे बहुत से नेताओं ने कहा कि तुम अब अपने घर जाओ तुम अब खत्म…. मैंने उसने कहा- मेरा तो कोई घर ही नही है। ●कुछ साथियों ने कहा- अब तुम कुछ अपना काम देखो। मैंने उनसे कहा- मेरे पास तो इस काम के अलावा कोई और काम ही नही। ●कुछ लोगों ने कहा कि तुमको अब यहाँ से कुछ मिलने वाला नही है। मैंने उनसे कहा मुझको यहाँ से अब कुछ चाहिए ही नही। ●कुछ हमदर्दीओं ने कहा- तुम्हारा पूरा दिमाग काम नही करता क्या जिस महिला(मा० बहन जी) ने तुमको आसमान से गिरा कर जमीन पर पटक दिया हो…….. मैंने उनसे कहा रुको हाँ मेरा दिमाग आधा काम करता है पूरा नही। मैं इतना तो नही जानता कि बहन जी ने मुझको आसमान से उठा कर जमीन पर पटक दिया परन्तु इतना जरूर जानता हूँ कि मुझको जमीन से उठाकर आसमान पर पहुंचना का काम जरूर बहन जी का है।
●फिर कुछ साथियों ने कहा कि भाई घबराओ नही हम तुम्हारे साथ हैं। रख होंसला वो मंजर भी आएगा….. तब मैं समझ गया कि ये मेरे काम(मिशन) के लोग हैं। हम सभी साथियों ने मिलकर यह फैसला किया कि बहन को दिए हुए तीनों वचनों को निभाएंगे और मा० बहन जी को कभी धोखा नही देंगे चाहे बहन जी हमको पार्टी से बाहर रखें या अंदर। अतः मेरा सभी साथियों से निवेदन है कि बड़ी मुश्किल से मूवमेंट(पार्टी) तैयार होता है,इसमें अपना योगदान दें।आज बुद्ध पूर्णिमा के पवित्र दिन पर हम अपने आप से वादा करें कि हम मा० बहन जी को कभी धोखा नही देंगे और पांचवी बार बसपा सरकार बनाने में अपना योगदान सुनिश्चित करेंगे।मिशन कांशीराम(मैं भी कांशीराम) कांशीराम विचार यात्रा(बसपा का विजय रथ)जय भीम जय भारत जय कांशीराम जय भगतसिंह जय बसपा।पांचवी बार बसपा सरकार(उत्तर प्रदेश)।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

[responsive-slider id=1466]

You may have missed

error: Content is protected !!