Lakhimpur News:गुलाबी नोटों के चक्कर में शारदा नेहर ब्रांच का चीरा जा रहा सीना – बहुजन इंडिया 24 न्यूज

Lakhimpur News:गुलाबी नोटों के चक्कर में शारदा नेहर ब्रांच का चीरा जा रहा सीना

1 min read
😊 Please Share This News 😊

गुलाबी नोटों के चक्कर में शारदा नेहर ब्रांच का चीरा जा रहा सीना
लखीमपुर के थाना फरधान के अंतर्गत ग्राम जैतापुर के पास शारदा नहर ब्रांच मैं अवैध रूप से रात को बालू खनन का कार्य काफी दिनों से चल रहा है तथा नहर के दाएं तरफ सड़क को बालू माफियाओं ने पूरी तरह से नुकसान काट दिया है जिससे गांव में पानी पहुंचे का खतरा रहे गा और नहर में ट्रैक्टर ट्राली ले जाकर बालू हजारों ट्राली अवैध रूप से खनन करते हैं और रातों-रात अमीर बनने के चक्कर में मुख्यमंत्री योगी सरकार के नियमों की धज्जियां उड़ा रहे हैं गांव वालों जैतापुर के निवासियों के मना करने पर भी ये बालू माफिया अपनी दबंगई व गुंडई के बल पर गांव वालों को डराते धमकाते हैं और कहते हैं कि अगर आप मेरे खिलाफ जाओगे तो मुझसे कोई बुरा नहीं होगा अच्छा इसी में होगा कि आप लोग चुपचाप रात को सोते रहो जिससे गांव वालों को डर कहीं ना कहीं लगता है कि रात को कोई भी बड़ी अनहोनी घटना चोरी डकैती ना हो जाए जिससे गांव वाले रात भर जागते रहते हैं वह काफी परेशान हैं शासन प्रशासन नहर विभाग पूरी तरह से मौन व महात्मा गांधीजी के तीन आदर्श बंदरों की तरह कार्य करता है।

Sarvesh Kumar
Sarvesh Kumar :Bureau Report-Lakhimpur UP

गांव वालों ने जब बहुजन इंडिया 24 न्यूज़ टीम से संपर्क किया तो बहुजन इंडिया 24 न्यूज टीम ने इसकी ग्राउंड रिपोर्टिंग की और गांव वालों के दुख दर्द सुने जब गांव वालों ने रिपोर्टिंग टीम को नहर में ले जाकर दिखाया तो रिपोर्टिंग टीम नहर का हाल देखकर दंग रह गई की नहर में काफी मात्रा में बालू का अवैध खनन किया गया है और नहर में जाकार वीडियो कवरेज किया जबकि मात्र 7 किलोमीटर की दूरी पर थाना फरधान है और 10 किलोमीटर जिला मुख्यालय लखीमपुर जहां डीएम एसडीएम आला अधिकारी बैठते हैं जो की बालू माफिया इतने बड़े पैमाने पर रात को बालू का अवैध कारोबार करते हैं जिससे सरकार करोड़ों रुपए का नुकसान करते हैं अब इसमें क्या कहा जाए कि सरकार की लीपापोती है या नहर विभाग की नहर इसमें प्रश्न चिन्ह है???

शिकायत की जाए कोई अधिकारी सुनने को तैयार नहीं है विभाग की लीपापोती है देखते रहिए बहुजन इंडिया 24 न्यूज़ ब्यूरो रिपोर्ट सर्वेश कुमार व कैमरामैन अनुज वर्मा के साथ आगे की कार्रवाई के लिए
इन अवैध बालू माफिया पर कोई कार्रवाई होगी या इनके हौसले ऐसे बुलंद रहेंगे कि इसमें गुलाबी नोटों का खेल चलता रहेगा ।


लखीमपुर खीरी कस्बा सुन्दरवल में सात दिसम्बर 2021 से कराया जा रहा है राष्ट्रीय एकता विराट कुश्ती दंगल

जिसमें बहुत दूर-दूर से काफी पहलवान आए हुए हैं जैसे नेपाल राजस्थान कलियर शरीफ कानपुर पंजाब जम्मू कश्मीर बरेली काठमांडू हरियाणा से बहुत ही काबिल पहलवान आए हुए हैं और कुश्तियां लड़ रहे हैं और काफी काफी दूर से और पहलवान निकल चुके हैं वह भी कल

लखीमपुर खीरी कस्बा सुन्दरवल में सात दिसम्बर 2021 से कराया जा रहा है राष्ट्रीय एकता विराट कुश्ती दंगल

परसो तक पहुंच जाएंगे दंगल कराने वाले व्यक्ति सलीम कुरेशी अध्यक्ष मोनू उपाध्यक्ष गुड्डू भाई मोहम्मद इसहाक दाऊद अली शफी कुरैशी रोज ली कुरैशी सरवन खान पूर्व जिला पंचायत सदस्य वभारतीय जनता पार्टी के दलित युवा मोर्चा के अध्यक्ष दिनेश पासी उपाध्यक्ष शकुंतला पासी भी सहयोग साथ में है आज मौके पर ग्राम पंचायत सुंदरवल के ग्राम प्रधान गुफरान खान भी मौके पर मौजूद रहे।  =============


गोला क्षेत्र में लेखपाल का कहर दलित, असहाय वृद्ध दंपति का ढ़हाया मकान

bahujanindia24newsmukesh bharti Photo
Mukesh Bharti: Chief Editor-बहुजन इंडिया 24 न्यूज़

लखीमपुर खीरी के तहसील गोला में दलित असहाय बुजुर्ग – शत्रोहनलाल का आवासीय मकान को जबरन ढ़हाया गया —– सूत्रो के हवाले से शत्रोहनलाल ने इस आवासीय भूमि को सन 2020 में गोला के प्रॉपर्टी डीलर आदिल से ख़रीदा था जिसपर झोपड़ी डाल क्र निवास करने लगा लेखपाल जेपी वर्मा के द्वारा शत्रोहनलाल से पैसों की डिमांड की जिसको पूरा न करने पर नाराज होकर लेखपाल ने जबरन झोपड़ी जो चारों तरफ 4 फिट पक्की दीवार बनी हुई थी का मकान गिरा दिया गया जबकि सूत्र बताते है की लेखपाल जेपी वर्मा जिससे पैसा पा जाते है उसपे कोई कार्यवाही नहीं करते है विगत कुछ माह पहले यूपी के मुख्यमंत्री का बयान आया था की किसी आवासीय भूमि पर कोई व्यक्ति अनधिकृत कब्ज़ा किया हुआ है तो उसके हक़ में कर दिया जाये उसको बेघर न किया जाये। लेखपाल द्वारा झोपड़ी गिरवा देने से वृद्ध दलित दंपति हो गए है बेघर आज खुले आसमान के नीचे सोने को है मजबूर। वृद्ध दलित दंपति के पास ना कोई अब रहने के लिए मकान बचा है और ना कोई पैसा बचा है जिससे आगे का जीवन गुजर-बसर किया जाए जबकि लेखपाल का कहना है कि इन बुजुर्ग दंपति का जो मकान झोपड़ी बनी थी वह सरकारी जमीन में बनी हुई थी। जबकि इन वृद्ध दंपति के पास प्रॉपर्टी डीलर से बैनामा करवाई पक्की रसीद है जो प्रॉपर्टी डीलर आदिल के द्वारा कराया गया था जिसका गाटा संख्या 1995 जो इंतखाब में मेराज खान पुत्र शराफत अली निवासी लक्ष्मी नगर भूल वार्ड प्रथम गोला कस्बा हैदराबाद तहसील गोला में स्थित खीरी पर दर्ज थी। सत्रोहन लाल पुत्र बिंदा प्रसाद निवासी कृष्णा नगर पलिया कला जिला खीरी ने दिनांक 27/ 1/2020 इसका बैनामा कराया गया कराया था जो 220000 में खरीदा गया था इसकी लंबाई चौड़ाई 1044 वर्ग स्क्वायर फिट है जिसकी चौहद्दी सर्किल साथ में बैनामा संकलित है.आवासीय झोपड़ी गिराने से पहले लेखपाल ने शत्रोहनलाल लाल पुत्र बिंदा प्रसाद को कोई कानूनी नोटिस नहीं दी है

लेखपाल जेपी वर्मा अपने पद का दुर्पयोग कर दलित असहाय बुजुर्ग – शत्रोहनलाल का मकान ढ़हाया जिसकी जानकारी प्रशासन को भी नहीं दी। लेखपाल के हेकड़ी के शिकार हुए हैं अब बुजुर्ग वृद्धि दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं जबकि इनके ना कोई परिवार नहीं है और ना कोई शासन से लाभ है जबकि मुख्यमंत्री जी योगी सरकार वृद्धों के लिए वृद्धा आश्रम व वृद्ध पेंशन के रूप में करोड़ों रुपए दान के रुप में असहाय वृद्धों को देते हैं इस समय कड़ाके की सर्दी पड़ रही है और जाड़ा काफी होने लगा है और पीड़ित ने प्रशासन से शिकायत कर चूका है लेकिन अभीतक कोई न्याय नहीं मिल पाया है।

Sarvesh Kumar
Sarvesh Kumar :Bureau Report-Lakhimpur UP

परेशान होकर पीड़ित बुजुर्ग दम्पति शत्रोहनलाल ने मीडिया से लगाई गुहार। जिसपर बहुजन इंडिया 24 न्यूज़ की टीम ने मौके पर जाकर जाना पूरा हाल और लिया ग्राउंड रिपोर्टिंग। मीडिया ने जब हल्का लेखपाल जेपी वर्मा से सवाल जबाब किया तो हल्का लेखपाल ने बताया कि डीएम साहब के आदेश अनुसार मकान गिराया गया है मीडिया

Anuraj Verma Press card 463
Anuraj Verma: Bureau Report-Lakhimpur UP

टीम ने लेखपाल से आवासीय झोपड़ी गिराने के आदेश के बारे में जानना चाहा तो लेखपाल ने साद ली चुप्पी जिससे साफ जाहिर है लेखपाल द्वारा आवासीय झोपड़ी गिराने के पीछे मंशा क्या थी। हल्का लेखपाल जेपी वर्मा ने बताया की यह मकान जो बना हुआ था वह सरकारी जमीन पर बना था इसे अवैध रूप से बनाया गया था जबकि इस वृद्ध दंपति के पास सारे कागजात हैं बगैर सूचना दिए इनका मकान ढाया गया है और जब रिपोर्टरों ने ग्राम प्रधान गोला राजेश गिरी से जानकारी ली कि इस वृद्ध का मकान क्यों गिराया गया है ? तो प्रधान ने कहा बताया की इसकी मुझे कोई भी जानकारी नहीं है। गोला तहसील क्षेत्र के अंदर सरकारी भूमि को फर्जी तरीके से बेचने वाले प्रॉपर्टी डीलर का गिरोह है सक्रिय जिसका शिकार हुए शत्रोहनलाल। विश्वस्य सूत्रों से पता चला है की तहसील के राजस्व माल के अभिलेखों में तहसील के कर्मचारियों की मिली भगत से अभिलेखों में हेरफेर करके बनवा लिया जाता है सरकारी भूमि की खतौनी और फिर प्रॉपर्टी डीलर भोलेभाले लोगो से मोटी रकम लेकर दिया जाता है बेच और लेखपाल अपना हिस्सा नहीं पाता है तो कार्यवाही के बहाने देता है गिरवा।और गरीब लोग हो जाते है घर से बेघर।


व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

[responsive-slider id=1466]

You may have missed

error: Content is protected !!