आई . जी.आर.एस. के माध्यम से जन शिकायतों का गुणवत्तापरक निस्तारण कराया जाना शासन की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक – जिलाधिकारी – बहुजन इंडिया 24 न्यूज

आई . जी.आर.एस. के माध्यम से जन शिकायतों का गुणवत्तापरक निस्तारण कराया जाना शासन की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक – जिलाधिकारी

1 min read
😊 Please Share This News 😊

संवाददाता : :मैनपुरी : : अवनीश कुमार  :: Date ::27 – 9 -2022 ::आई . जी.आर.एस. के माध्यम से जन शिकायतों का गुणवत्तापरक निस्तारण कराया जाना शासन की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक – जिलाधिकारी

मैनपुरी – जिलाधिकारी अविनाश कृष्ण सिंह ने कहा कि जन शिकायतों के त्वरित , प्रभावी एवं पारदर्शी निस्तारण हेतु वेब आधारित समन्वित शिकायत निवारण प्रणाली ( आई . जी.आर.एस. ) के माध्यम से जन शिकायतों का गुणवत्तापरक निस्तारण कराया जाना शासन की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक है , इस उद्देश्य से शासन द्वारा मासिक मूल्यांकन के आधार पर रैंकिंग निर्धारित की जाती है . लंबित सन्दर्भों का समयान्तर्गत गुणवत्तापूर्ण निस्तारण न होने के फलस्वरूप डिफाल्टर संदर्भों की संख्या में निरन्तर वृद्धि होने के कारण जनपद की रैंकिंग में सुधार नहीं हो पा रहा है।

 

जन शिकायतों को त्वरित एवं पारदर्शी ढंग से निस्तारण किया जाए- जिलाधिका

जिससे जनपद की छवि धूमिल हो रही है , एक बार डिफाल्टर की श्रेणी में जाने पर जनपद की प्रतिशतता सदैव के लिए प्रभावित होती है । उन्होने कहा कि समीक्षा के दौरान प्रायः देखने में आ रहा ह कि जनपद , तहसील , विकास खण्ड , थाना , मण्डी , नगर निकाय स्तरीय अधिकारी प्रतिदिन अपना आई.जी. आर . एस . पोर्टल लॉगिन नहीं कर रहें हैं , सन्दर्भ अन्मार्क की श्रेणी में बनाये रखते है , न तो स्वयं निस्तारण करते है और नाहीं संबंधित अधिकारी को निस्तारण करने हेतु अग्रसारित किये जा रहे है। सन्दर्भ समयान्तर्गत निस्तारण न होने पर डिफाल्टर हो रहे है । उन्होने असंतोष व्यक्त करते हुये कहा कि माह के अन्तिम दिन सन्दर्भों पर संबंधित नहीं लिखकर वापस कर दिया जाता है या अधोहस्ताक्षरी के कार्यालय से संबंधित नहीं है।पोर्टल पर आख्या अपलोड कर दी जाती है। यह स्थिति किसी भी दशा में ठीक नहीं है । उन्होने कहा कि यदि किसी के पोर्टल पर अन्य विभाग अधिकारी का सन्दर्भ लंबित है तो संबंधित विभाग , अधिकारी से सम्पर्क कर निस्तारण की जांच आख्या प्राप्त कर अपने स्तर से अपलोड कराना सुनिश्चित करें , पोर्टल पर प्राप्त होने वाले समस्त सन्दर्भों का अवलोकन करें , अगर आपसे संबंधित है तभी सन्दर्भ को कार्यालय स्तर पर लंबित करें अन्यथा रेडक्रॉस बटन से तत्काल उसे संक्षिप्त टिप्पणी लिखकर वापस करें समस्या का समाधान न होने पर आई.जी. आर . एस . सेल ई – डिस्ट्रिक्ट सेल , एन.आई.सी. से सम्पर्क करें । शिकायतकर्ता की समस्या का समुचित समाधान न होने पर शासन द्वारा सन्दर्भ को पुनः गुणवत्तापूर्ण निस्तारण कराये जाने हेतु वापस कर दिया जाता है , सभी सन्दर्भों का समयबद्धता के साथ नियत समयावधि में निस्तारण हो ताकि डिफाल्टर सन्दर्भों की संख्या में वृद्धि न हो सके । उन्होने कहा कि लंबित सन्दर्भों का प्रत्येक दशा में दि 28 सितम्बर तक गुणवत्तापूर्ण निस्तारण कर लिया जाय , उसके उपरान्त भी यदि सन्दर्भ लंबित रहता है तो संबंधित पटल सहायक का उत्तरदायित्व निर्धारित करते हुये विभागीय कार्यवाही की जाये यदि अगले माह भी सन्दर्भ डिफाल्टर की श्रेणी में आता है तो सम्बन्धित अधिकारी का उत्तरदायित्व निर्धारित कर नियमानुसार विभागीय कार्यवाही अमल में लायी जायेगी ।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

[responsive-slider id=1466]
error: Content is protected !!