गन्ने के खेत में मिला जीवित नवजात, शिशु मानवता हुई शर्मसार – बहुजन इंडिया 24 न्यूज

गन्ने के खेत में मिला जीवित नवजात, शिशु मानवता हुई शर्मसार

1 min read
😊 Please Share This News 😊

संवाददाता : :सम्पूर्णानगर-खीरी। : : अमरनाथ :: Date ::09.10 .2022 ::थाना सम्पूर्णानगर क्षेत्र के गांव रानी नगर गन्ने के खेत में 06-10-2022 की रात एक नवजात जीवित शिशु के मिलने से सनसनी फैल गई। नवजात के रोने की आवाज सुनकर ग्रामीणों ने शिशु को उठाकर नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर देखभाल को सौंपा। बताते चलें कि क्षेत्र के गांव रानीनगर निवासी गुड्डू मौर्य के घर के पीछे से रात लगभग 11 बजे किसी बच्चे के रोने की आवाज सुनाई दी।

आवाज सुनकर गुड्डू ने अपने पड़ोसियों को बुलाया उन्होंने जाकर देखा कि गन्ने के खेत में एक नवजात शिशु नग्न अवस्था में पड़ा मिला शरीर पर कोई वस्त्र नहीं था उन्होंने बच्चे को वहां से उठाकर घर लाया। तुरन्त ही उसे रानीनगर के उप स्वास्थ्य केन्द्र ले जाया गया तथा सम्पूर्ण नगर थाना इंचार्ज हनुमन्त लाल तिवारी को घटना से अवगत कराया गया जिस पर उन्होंने पहले नवजात के जीवन को बचाने की प्राथमिकता पर ध्यान देते हुए केंद्र की महिला चिकित्सक से फोन पर बात की।

नवजात के लिए कुछ जरूरी स्वस्थ्य सम्बन्धि सामाग्री उपलब्ध न होने के चलते एएनएम मनीषा नवजात को लेकर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र विशेनपुरी पहुंची जहां रात्रि एक बजे के लगभग केंद्र चिकित्सक डॉ0 सुनील कुमार ने नवजात को जरूरी ट्रीटमेंट दिया, कीड़े मकोड़े के काटने से शरीर में फैले इंफेक्शन को कम करने के लिए जरूरी दवाएं दी जब नवजात खतरे से बाहर आ गया तब सुनील ने उन्हें वापिस भेजा।

फिलहाल नवजात रानीनगर केंद्र पर एएनएम मनीषा की देख रेख में है। घटना की जानकारी जब शुक्रवार सुबह गाँव में फैली तो उसे देखने ग्रामीणों का हुजूम उमड़ पड़ा। लोग जहां नवजात के प्रति अपनापन प्रकट करते देखे सुने गए तो वहीं इसे जन्म देने वाली कलयुगी माँ बाप को जी भर कोसते नजर आए। फिलहाल नवजात को गोद लेने के लिए कुछ लोग आगे आये हैं। थानाध्यक्ष हनुमन्त लाल तिवारी ने बताया चाइल्ड लाइन की देख रेख में नवजात अभी रानीनगर केंद्र पर ही एएनएम मनीषा के पास इलाज के लिए रखा गया है। दो दिनों बाद चाइल्ड लाइन खीरी द्वारा नवजात को ले जाया जाएगा। रिपोर्ट-अमरनाथ 6389598854

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

[responsive-slider id=1466]
error: Content is protected !!